Motivation for SSC CGL

सब अपनी अपनी exprience शेयर करते हैं, आज मै भी बताता हूँ, वैसे id तो फेक है, पर हो सकता है आप cgl के exam के पहले कुछ motivate हो जाएँ।
कहने को तो बहुत कुछ है पर यहाँ सब लिखना पॉसिबल न हो पायेगा। पॉइंट पे आते हैं।
मै एक गरीब family से belong करता था, मेरे गाँव में करीब सभी बच्चे नजदीक के शहर में जाके पढाई करते थे, मेरे मम्मी पापा के पास पैसे नहीं थे , शहर भेजने के लिए, मै भी पढाई में कुछ अच्छा नहीं था फिर भी मै भी चाहता था की hometown जाके पढाई करू, कम्पटीशन की तैयारी करू, जिद की पापा से , उस समय मुझे नहीं पता था की पापा पैसे कहा से लाएंगे फिर भी जिद पर डिगा रहा, हमारे पास थोड़ी से जमीन पड़ी थी पापा ने बेच दी ,पर मुझे बताया नहीं था , पैसे सारे मुझे दे दिए बोले की इतने ही हैं जितना पढ़ सकता है पढ़ ले, उस समय, शहर आया देखा यहाँ तो इतनी कम्पटीशन है मेरे जैसे लड़के कहा जा पाएंगे इसमें, फिर भी दिल को समझाया पढ़ने पे लग गए, ठान लिया की कैसे भी सरकारी नौकरी पा लूंगा, पहला एग्जाम दिया chsl का ldc का cut off क्लियर हुआ , बहुत khus था इसी बीच एक बार घर गया था शाम को जब खाना मम्मी ने दिया तो देख के आँशु आ गए, वही खाना मम्मी पापा रोज खाते थे, typing के लिए बुलाया गया, जब रिजल्ट आया तो देखा typing मे फेल था, बहुत रोया, इसी बीच mts का फॉर्म निकला, बस कही जॉब करना चाहता था की कम से कम घर तो चल सके, exam दिया mts का 150 में से 102 no आए, descriptive के लिए बुलाया गया, मै एक हिंदी भासी area का लड़का हूँ ज्यादा इंग्लिश achhi नहीं आती थी, फिर भी इंग्लिश में ही essay और letter का तैयारी किया, सबने ये बोला था कि इंग्लिश में लिखने पे मार्क्स अच्छे मिलते हैं, और मेरे फ्रेंड ने हिंदी में लिखा था (likhna jaruri ho gaya ye experience ku ki cgl me new pattern ke chalte kuch ladke ye doubt me rahte hain ki hindi me essay/letter likhne pe no. Kam ayenge) . Mujhe mile 50 me 24 aur phir ek baar result nahi aya usko mile the 38. Mere friend ka selection ho gaya mts me , u can’t believe maine khana nahi khaya tha pure 2 dino tak, inhi sab ke bich cgl14 ka pt hone wala tha, padhai shuru kiya , ye mera cgl ka first exam tha, exam diya thik thak gaya, inhi sab ke bich jab ek baar ghar gaya tha toh logo se sun ne ko mila , khet v bichwa diya aur naukri v nahi lagi, andar bahut ajib feeling hui, el khet hi toh tha hamare paas ghar ke siva, papa bol rahe the ki beta paise nahi hai mere paas agar tere paas paise khatm ho jaye toh bahar factory me kaam kar lena. mains ki taiyari shuru ki ku ki janta tha ki result aa jayega, sab kuch chhod ke padhne pe lag gaya , 1-1 minute ko utilize kiya. mains achha gaya interview ka cut off clear hua, interview v achha gaya, result aya mujhe aj v yaad hai 2 sep ka din tha, result dekh ke khub roya, lekin is baar ye khusi ke ashu the, mera first preference mujhe EXCISE INSPECTOR mila tha. Usi raat ghar gaya bicycle chalake, mummy papa ko bataya, mummy rone lagi, raat bhar mere paas baithi rahi. Av mai RAIPUR me posted hu. Av kuch din pahle ghar gaya tha uniform pahan ke , meri uniform dekh ke gaav walo ki halat kya hui thi mai bata nahi sakta.. uniform pahan ne ka alag hi maja hai yaar.

Last me ye kahna chahunga ki yaar kuch agar achha na ho life me toh ye hamesha yaad rakhna ki kuch bahut achha hone wala hai. Ek ek minute ko utilize karo aap log , ab jyada time nahi reh gaya cgl me. Aur haa descriptive ke baare me ye kahna chahunga ki jis language me ap comfortable ho wohi use karna achhe marks ayenge.

Aj ye apni story isliye likha ku ki aj mai mummy papa ko BABYLON leke gaya tha dinner ke liye aur wo apni life me pahli baar kisi hotel me khana kha rahe the. …..

English hindi mix ho gayi hai yaar sorry.

Shared by ak bhartiya

  • Test Email2

    Carry on bhai, u are a star

  • anuj sharma

    You are a real hero bhai